घटना का संक्षिप्त विवरण- दिनांक 23.07.2022 को फरियादी द्वारा थाना पवई में रिपोर्ट की गई कि फरियादी के भाई एवं फरियादी की लडकी तथा बहन के साथ आरोपीगणों द्वारा पुरानी विवाद को लेकर हत्या करने के प्रयास से लाठी एवं बका से मारपीट कर प्रांणघातक चोटे पहुचाँई गई है एवं बुरी-बुरी गालियाँ देते हुये जान से मारने की धमकी दी गई है । फरियादी की रिपोर्ट पर थाना पवई में 03 आरोपीगणों के विरूद्ध हत्या का प्रयास करने, जान से मारने की धमकी देने एवं गाली गलौज करने का अपराध क्र.278/2022धारा पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया ।

पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही- थाना प्रभारी पवई निरीक्षक डी.के. सिंह द्वारा तत्काल उक्त घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई । पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना द्वारा घटना को गम्भीरता से लेते हुए प्रकरण के आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिये गये । पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना श्रीमती आरती सिंह ,अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) पवई श्री सौरभ रत्नाकर के मार्गदर्शन मे उपरोक्त प्रकरण के आरोपियो की गिरफ्तारी हेतु थाना प्रभारी पवई निरीक्षक डी.के. सिंह के नेतृत्व मे एक पुलिस टीम गठित की गई थी । विवेचना के दौरान उपरोक्त पुलिस टीम को दिनांक 26.07.2022 को हत्या के प्रयास के फरार आरोपियों के बारे मे मुखबिर से जानकारी मिलने पर उपरोक्त पुलिस टीम द्वारा दिनांक 26/07/2022 को ग्राम महेडा मे दबिश देकर प्रकरण के सभी तीनो आरोपियों को पुलिस अभिरक्षा मे लेकर उनसे पूँछताछ की गई,आरोपीगणो ने पूँछताछ में अपराध करना स्वीकार किया । उपरोक्त तीनो आरोपियो के विरूद्ध अपराध प्रमाणित पाये जाने पर उनको गिरफ्तार किया जाकर आरोपीयो के कब्जे से हत्या के प्रयास की घटना मे प्रयुक्त दो बांस की लाठी जिसमें खून जैसे धब्बे लगे है एवं एक लोहे का बका जिसमे खून जैसा धब्बा लगा है को आरोपीगणो से पृथक पृथक जप्त किया गया । उपरोक्त घटना के तीनों आरोपीगणो को आज दिनाँक 27.07.2022 को माननीय न्यायालय पवई के समक्ष पेश किया गया जहाँ से सभी आरोपीगणो को माननीय न्यायालय के आदेश से उपजेल दाखिल कराया गया ।

जप्त सामग्री-आरोपीगणो के कब्जे से घटना मे प्रयुक्त दो बांस की लाठी जिसमे खून जैसे धब्बे लगे है एवं एक लोहे का बका जिसमे खून जैसा धब्बा लगा है जप्त किया गया है ।

सराहनीय योगदान- उपरोक्त सम्पूर्ण कार्यवाही मे थाना प्रभारी निरीक्षक डी.के.सिंह, उपनिरी. वहीद अहमद खान , उनि के पी रजक , प्रआर. 218 गनेश सिहं , चालक प्रआर. 128 नागेन्द्र, प्रआर 78 कृष्णकात ,आर 279 दीपक मिश्रा ,आर 616 रंजीत,आर 742 राकेश ,आर 385 राजू आर 535 महेश चौहान.आर 441 विजय बिल्लौरे, आर221 धन सिंह एवं पुलिस सायबर सेल टीम पन्ना महत्वपूर्ण भूमिका रही है ।